Followers

Thursday, 14 July 2016




गले लगकर सूरज का
खूब रोई निशा रानी
बूँद बूँद पत्ते पर टपके
निशा के जो नयन बरसे......



                                                               Ranjana verma



Wednesday, 13 July 2016



जिंदगी हमेशा साफ सुथरे
रास्ते से  बिना रुकावट के चले 
ऐसा नहीं होता है
क्योंकि जिंदगी हाई वे नहीं है ~~ 



                                                    Ranjana  verma



Tuesday, 12 July 2016






  तेरे प्रेमग्रंथ के पन्नों पर
  मैंने कर दिया
  अपनी सांसों से हस्ताक्षर...


                                                                       Ranjana Verma