Followers

Tuesday, 15 August 2017

 

                                                         

शांतिप्रिय यह देश हमारा 
पूर्वजों का है यह धरोहर 
एकता और अखंड़ता यहां 
नफ़रतों में न बर्बाद हो 
भारत माँ के आँगन में 
मजहब की दीवार से
इंसानियत न तार तार हो
मानवता की राह पर इस
युग का भी इतिहास हो !!!
. . . . . . . . . . . . . . . . .

                                  Ranjana Verma