Followers

Friday, 6 September 2013

ये दुनियाँ ऐसी क्यों है ??

                                                                                                                               
                                                                                                                               
                   ये दुनियाँ  ऐसी क्यों है 
                 जात -पात का वैर यहाँ पर 
                 छोटे बड़े का भेद यहाँ पर 
                 मानवता को क्यों कर रहे दागदार यहाँ पर ?
               
                ये दुनियाँ ऐसी क्यों है 
                मां बहन बेटियो की अस्मत 
                क्यों करते हैं तार -तार यहाँ पर
                दहेज़ भूर्ण हत्या बलात्कार 
                इंसानियत को क्यों कर रहे शर्मसार यहाँ पर ?

                ये दुनियाँ ऐसी क्यों है 
                भ्रष्टाचार से ग्रस्त है जनता 
                मांग रही है मुक्तिबोध यहाँ  पर 
                हर ओर हो रही लुट यहाँ पर
                मर्यादा क्यों हो रही रोज खंडित यहाँ पर  ?

                ये दुनियाँ ऐसी क्यों है 
                बम धमाके आत्मघाती से 
                हरक्षण दहलता है देश हमारा  
                भूख बेरोजगारी गरीबी से 
                हो रही जनता त्रस्त देश में 
                ईमानदारी को क्यों कर रहे हर क्षण पानी यहाँ पर ?                                        

                                                                                                         


                                                                     Ranjana Verma