Followers

Saturday, 23 November 2013

हम एक नयी दुनियाँ बसायेंगे .........!!!


हम एक नयी दुनियाँ बसायेंगे 
हम एक नयी आसमां बनायेंगे
जहां प्रेम के बीज बोयेंगे  
जहां प्यार की बारिश होगी 
जहाँ न होगी कोई चिरहरण 
न होगी पट्टी बंधी कोई गंधारी ……!!

इस प्यार भरी दुनियां में 
सपनों के फूल खिलेंगे 
रिश्तों की खुशबू बिखरेगी 
हर सीता बेटी महफूज यहां रहेगी
कोई दामिनी अब नहीं मरेगी 
सब मिलजुल कर अब रहेंगे 
नयी इतिहास हम फिर रचेंगे …!!

न कोई चक्रव्यूह रचेगा 
न कोई अभिमन्यू कभी मरेगा 
न अर्जुन अपनों से युद्ध करेगा 
न कोई कर्ण भाई के हाथों मरेगा 
हार जीत कि इस पावन भूमि में 
न विधवंस का पताका लहरायेगा……!! 

इतिहास कि नयी इबारत 
हम मिल कर फिर लिखेंगे 
इस प्यार भरी प्यारी दुनियां में 
हर ओर प्यार बिखरेगा
हर दिन होली और
हर दिन दीवाली होगी   ……!!

                                                                 Ranjana Verma