Followers

Tuesday, 2 July 2013

महाकाल तुम आज मौन क्यों ..............???

                                                               




          हे भगवन तेरे दरबार में ये क्या हो गया ..................
        कुदरत का ये कैसा करिश्मा दिखला दिया
        गये थे तुमसे वरदान मांगने मौत ने उसे सुला दिया
        हाय रे भगवन तेरे दरवार में ये क्या हो गया  
        तेरे द्वार पर ये कैसा अनर्थ हो गया
        तेरे ही भक्तों का जीवन हर गया 
        बहुत मुद्दत कबूल के बाद तेरा बुलावा आया
        ख़ुशी ख़ुशी तेरे दरवार में शामिल हो गया
        न जान बची न बची रहने को घरवार
        नामों निशान तक मिट कर अनाथ हो गया 
        किस जन्मों की सजा दी तुमने अपने ही भक्तों को
        चारों ओर चीख पुकार मच गया 
        कौन किसके लिए क्या कर पाया
        आँखों के सामने सब जिन्दा बह गया
        ऐसा तेरे क्रोध का जलजला 
        आज तक कभी नहीं देखी थी दुनिया 
        मानें की गलती हमारी भी है 
        हमने नहीं की प्रकृति की रक्षा ठीक से 
        लेकिन ये खता ऐसी तो नहीं 
        जिसकी सजा तूने ऐसी दी 
        हे विश्वरचेता प्राणपिता 
        महाकाल तुम आज  मौन क्यों ............???


                                                                                                           Ranjana Verma