Followers

Monday, 6 May 2013

आज हवाओं में भीनी भीनी सी खुशबू हुई..................

                                                                 
                                        



    आज हवाओं में भीनी भीनी सी खुशबू हुई 
         आज शबनम भी ओंस से नहाई हुई 
               फिजाओं भी गुलाबी गुलाबी हुई
                  दिल की धड़कन भी बेकाबू हुई 
                    सासों की गति भी आती जाती हुई
                      आखों में भी मेरी बेताबी हुई 
                       दिल की दुनिया हमारी सतरंगी हुई
                         लब पर उनके नाम की सरसराहट हुई
                           मन में मिलने की बेकरारी हुई
        ......................क्योंकि उनके कदमों की जो आहट हुई                                                                                                                
                                                                                                                                                     
                                                                   Ranjana Verma