Followers

Monday, 13 May 2013

ईमानदारी में जो बात है ....................


     सच की राहों में चलने वाले को मिलती जीत सच्चाई की
     ईमानदारी में जो बात है वो बात कहाँ बेईमानी में 

                दूसरे का हक़ छीनकर तुम 
                खुद को माफ़ नहीं कर पाओगे
                धिक्कार  उठेगी आत्मा तेरी 
                अरमानो के महफ़िल में भी 


     झूठी शान से बना महल भी धराशायी यहीं हो जाता 
     बुरे ख्वाब का हर सजा जल्दी भी यही मिल जाता 

                 देश लुटने वाले सौदागर तुम्हें 
                 माफ़ देश न कर पायेगी कभी 
                 देश भक्ति में जो बात है 
                 वो बात कहाँ भ्रष्टाचारी में

       दिन के उजाले से लेकर रात के अंधियारे तक 
       करते रहते   सहस्त्र घोटाले और हेराफेरी तुम

                नजर अपनो से न मिला पाओगे 
                रिश्तो को क्या रंग दोगे तुम 
                देश प्रेमी में जो बात होती है 
                वो बात कहाँ देश के गद्दारों में

                                                                                 

                                                                  Ranjana Verma